Wednesday, February 1, 2017

बाबा की नगरी में वीणावादिनी के पूजन की धूम

बाबा विश्वनाथ की नगरी में बुधवार को बसंत पंचमी और सरस्वती पूजन की धूम रही। चहुं ओर बसन्त उत्सव की खुमारी लोगो में छाई रही। उत्साही युवकों बच्चो की टोली ने मस्ती और उल्लास के बीच परम्परानुसार रेड़ का वृक्ष और उसकी डालिया काट चौराहों पर रख होलिका की नींव रखी। यह दृष्य शहर के प्रमुख चौराहो गलियो और गांव के चौबारो पर दिखा। इस दौरान कई जगहों पर युवा नगाड़े की थाप पर थिरकते भी रहे। इसके पूर्व पूजा पण्डालों स्कूलो महाविद्यालयों तथा तीनो ​विश्वविद्यालयो के छात्रावासो में उदया तिथि में विधि विधान से बैदिक मंत्रोच्चार के बीच छात्रो युवकों ने विद्वान ब्राहम्ण और बटुकों की देखरेख में वीणावादिनी की प्रतिमा को हवन पूजन के बीच स्थापित कर प्राण प्रतिष्ठा की ।
फिर पूर्वांह बाद पूजा पण्डालों का पट आम जन के लिए खोल दिया गया और फिर वाग्देवी के नयनाभिराम मुर्तियो के दर्शन पूजन के लिए युवाओ और क्षेत्रीय महिलाओं की भीड़ उमड़ पड़ी। कई पूजा पण्डालो में सांस्कृतिक आयोजन के साथ तेज आवाज में डीजे भी बज रहा था। सरस्वती पूजन की धूम महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के छात्रावासो में रही। इसी क्रम में प्रतिवर्ष की भांति नदेसर स्थित भारतीय स्पोर्टिग क्लब के पंडाल को भव्य झालर-झुमर और लाइटिंग से सजाया गया था।
यहां के पंडाल में स्थापित मां की विशाल प्रतिमा अलग ही छंटा बिखेर रही थी। इसी तरह तेलियाबाग मारूति क्लब मैदागिन स्थित वीसू जी मंदिर में सरस्वती पूजन के लिए युवाओ की भीड़ जुटी रही। वाग्देवी के प्रतिमाओ के पूजन अर्चन के बाद शुक्रवार को विर्सजन किया जाएगा। सरस्वती पूजन के बाद गुरूवार और शुक्रवार को प्रतिमा विसर्जन के लिए जिला प्रशासन ने 10 कुंड व तालाबों को साफ करा लिया है।


Post a Comment